आज सबकी निगाहें राजस्थान पर, विधानसभा में गहलोत का कॉन्फिडेंस टेस्ट; अटल जी से आगे निकले पीएम मोदी, कल बनाएंगे एक और नया रिकॉर्ड

Image
आज 14 अगस्त है, ठीक 73 साल पहले आज ही के दिन अंग्रेजों ने भारत के बंटवारे की लकीर खींची थी और दुनिया के नक्शे पर पाकिस्तान नाम के एक नए राष्ट्र का जन्म हुआ था। वहीं, दूसरी ओर आज सबकी निगाहें राजस्थान पर टिकी रहेंगी। सीएम अशोक गहलोत विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव पेश करेंगे। हालांकि, सरकार पर फिलहाल कोई संकट नहीं नजर आ रहा है। बगावत के बाद सचिन पायलट गुरुवार को सीएम अशोक गहलोत से मिले। दोनों नेताओं ने हाथ मिलाया और मुस्कुराए, लेकिन गले नहीं मिले। विधायक दल की बैठक में गहलोत ने कहा कि हम इन 19 एमएलए के बिना भी बहुमत साबित कर देते लेकिन वह खुशी नहीं होती। आखिर अपने तो अपने होते हैं। उधर भाजपा ने भी विधायक दल की बैठक बुलाई। इस बार पूर्व सीएम वसुंधरा राजे भी बैठक में शामिल हुईं। भाजपा ने कहा कि वह विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाएगी।पढ़िए पूरी खबर...कोरोना है कि थमने का नाम नहीं ले रहा है। देशभर में संक्रमितों का आंकड़ा 24 लाख के पार जा चुका है। वहीं मरने वाली की संख्या 47 हजार से अधिक हो गई है। हालांकि राहत की खबर है कि रिकवरी रेट 70 फीसदी हो गया है। उधर कोरोना से जुड़ी सबसे बड़ी खबर गुरु…

भारत का दूसरा सबसे बड़ा मंदिर होगा अयोध्या का राम मंदिर, दुनिया में चौथे पायदान पर रहेगा, रंगनाथ स्वामी मंदिर देश में पहले नंबर पर

5 अगस्त को अयोध्या में श्रीराम के मंदिर का भूमि पूजन होने जा रहा है। अभी मंदिर का जो मॉडल है, वो 67 एकड़ के क्षेत्र का है। लेकिन, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट इस बात की योजना बना रहा है, कि मंदिर का क्षेत्र 108 एकड़ तक हो। अगर ऐसा होता है, तो क्षेत्रफल के लिहाज से ये मंदिर दुनिया में चौथा सबसे बड़ा मंदिर हो जाएगा। दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कंबोडिया का अंगकोरवाट है। इसका क्षेत्रफल 402 एकड़ है। भारत का सबसे बड़ा मंदिर तमिलनाडु का श्रीरंगनाथ स्वामी मंदिर है। जो करीब 156 एकड़ के क्षेत्र में है।

अगर, मंदिर वर्तमान प्रस्तावित 67 एकड़ भूमि पर ही बनता है तो भी ये दुनिया का 5वां सबसे बड़ा मंदिर होगा। 5 अगस्त को भूमि पूजन के साथ ही मंदिर निर्माण का काम शुरू हो जाएगा। अगले 3 साल में मंदिर के पूरा हो जाने की उम्मीद है। मजेदार बात ये है कि भारत को मंदिरों का देश कहा जाता है। लेकिन, दुनिया के 10 सबसे बड़े मंदिरों में से 4 विदेशी भूमि पर हैं। दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर अंगकोरवाट है, जो कंबोडिया में है। कुछ धर्म गुरुओं ने राम मंदिर भी इसी की तर्ज पर बनाने की मांग की थी। सबसे बड़े मंदिरों में एक कंबोडिया, एक अमेरिका और दो इंडोनेशिया में हैं।

जानिए क्षेत्रफल के आधार पर दुनिया के 10 सबसे बड़े मंदिर कौन-कौन से हैं...

1. अंगकोर वाट मंदिर - क्षेत्रफल की दृष्टि से कंबोडिया के अंगकोर का ये मंदिर दुनिया में सबसे बड़ा है। ये करीब 402 एकड़ में फैला हुआ है। इसका निर्माण 12वीं शताब्दी में राजा सूर्यवर्मन द्वितीय ने करवाया था।

2. स्वामीनारायण अक्षरधाम, न्यू जर्सी - नॉर्थ अमेरिका के न्यू जर्सी में श्री स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर स्वामीनारायण संस्था द्वारा बनाया गया है। ये मंदिर 2014 मे दर्शनार्थियों के लिए खोला गया है। बीएपीएस स्वामीनारायण संस्थान स्वामीनारायण शाखा का एक संप्रदाय है।

3. श्री रंगनाथस्वामी मंदिर - भारत के तमिलनाड़ु राज्य के तिरुचिरापल्ली शहर में श्री रंगनाथस्वामी मंदिर स्थित है। क्षेत्रफल की दृष्टि से ये भारत का सबसे बड़ा मंदिर है। भगवान विष्णु का ये मंदिर एक शहर की तरह है। 8-9वीं शताब्दी के आसपास इस मंदिर का निर्माण माना जाता है।

4. श्रीराम मंदिर - 5 अगस्त को उत्तरप्रदेश की अयोध्या में श्रीराम मंदिर का भूमि पूजन होने जा रहा है। ये मंदिर करीब 108 एकड़ में बनाया जाना प्रस्तावित है। क्षेत्रफल की दृष्टि से ये दुनिया का चौथा सबसे बड़ा मंदिर होगा।

5. छतरपुर मंदिर - भारत की राजधानी नई दिल्ली में 1974 में संत नागपाल ने छतरपुर मंदिर बनवाया था। ये मंदिर पूरी तरह से संगमरमर से बना हुआ है। यहां देवी दुर्गा के कात्यायनी स्वरूप की पूजा की जाती है।

6. अक्षरधाम मंदिर, दिल्ली - नई दिल्ली के स्वामीनारायण अक्षरधाम मंदिर स्वामीनारायण संस्थान द्वारा बनाया गया है। 2005 में मंदिर को दर्शनार्थियों के लिए खोला गया था। मंदिर निर्माण 3,000 स्वयंसेवकों और करीब 7,000 कारीगरों ने मिलकर बनाया था।

7. बेसाकी मंदिर - इंडोनेशिया के बाली में बेसाकी मंदिर स्थित है। यहां बालिनी मंदिरों की एक श्रृंखला है। ये मंदिर छह स्तरों में बनाया गया है। ढलान को सीढ़ीदार बनाया गया है। मंदिर का इतिहास काफी पुराना है। माना जाता है कि यहां 13वीं शताब्दी से यहां पूजा हो रही है।

8. बेलूर मठ, रामकृष्ण मंदिर - भारत में पश्चिम बंगाल के हावड़ा में बेलूर मठ रामकृष्ण मंदिर स्थित है। ये रामकृष्ण परमहंस मिशन का मुख्यालय है। इसकी स्थापना स्वामी विवेकानंद ने की थी। यह हुगली नदी के पश्चिमी तट पर बना हुआ है। इसकी स्थापना 1935 में हुई थी।

9. थिल्लई नटराज मंदिर - भारत में तमिलनाडु राज्य के चिदंबरम नगर में थिल्लई नटराज मंदिर स्थित है। ये शिवजी का मंदिर है। यहां शिवजी के नटराज स्वरूप में दर्शन होते हैं। यहां गणेशजी, मुरुगन और विष्णु आदि देवी-देवताओं के मंदिर भी हैं। इस मंदिर का निर्माण 10वीं के आसपास माना जाता है।

10. प्रम्बानन, त्रिमूर्ति मंदिर - इंडोनेशिया के मध्य जावा के याग्याकार्टा क्षेत्र में प्रम्बानन त्रिमूर्ति मंदिर स्थित है। ये शिवजी का मंदिर है। इसका निर्माण 9वीं शताब्दी का माना जाता है। यहां की ऊंची और नुकीली वास्तुकला इसे खास बनाती है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
top 10 largest temples in the world, largest temples of india, Ayodhya's Ram temple will be the second largest temple in India, will be fourth in the world, Ranganath Swamy temple is the first in the country


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/32ZFMi1
via IFTTT

Comments

Popular posts from this blog

Navratre 2020

Weight loss intrested Women easy follows given tips

Ram Navami 2020